राष्ट्रीय स्तर की व्यापक समस्याएँ नैतिक दृष्टि धूमिल होने और निकृष्टता की मात्रा बढ़ जाने के कारण ही उत्पन्न होती है।

इमेज का डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया है

राष्ट्रीय स्तर की व्यापक समस्याएँ नैतिक दृष्टि धूमिल होने और निकृष्टता की मात्रा बढ़ जाने के कारण ही उत्पन्न होती है। : Rashtriya star ki vyaapak samasyaye naitik drishti dhoomil hone aur nikrishtata ki matra badh jaane ke kaaran utpanna hoti hain - प्रज्ञा सुभाषितराष्ट्रीय स्तर की व्यापक समस्याएँ नैतिक दृष्टि धूमिल होने और निकृष्टता की मात्रा बढ़ जाने के कारण ही उत्पन्न होती है। : Rashtriya star ki vyaapak samasyaye naitik drishti dhoomil hone aur nikrishtata ki matra badh jaane ke kaaran utpanna hoti hain - प्रज्ञा सुभाषित

Leave A Reply

Your email address will not be published.