हमें जो स्वतंत्रता मिली है उसके लिए हम क्या कर रहे हैं? यह स्वतंत्रता हमें अपनी सामाजिक व्यवस्था को सुधारने के लिए मिली है। जो असमानता, भेदभाव और अन्य चीजों से भरी हुई है, जो हमारे मौलिक अधिकारों के साथ संघर्ष करती है - hamen jo mukti milee hai usake lie ham kya kar rahe hain? yah hamen apanee saamaajik vyavastha ko sudhaarane ke lie milee hai. jo asamaanata, bhedabhaav aur any cheejon se bharee huee hai, jo hamaare maulik adhikaaron ke saath sangharsh karata hai. : डॉ॰ बी॰ आर॰ अम्बेडकर

हमें जो स्वतंत्रता मिली है उसके लिए हम क्या कर रहे हैं? यह स्वतंत्रता हमें अपनी सामाजिक व्यवस्था को सुधारने के लिए मिली है। जो असमानता, भेदभाव और अन्य चीजों से भरी हुई है, जो हमारे मौलिक अधिकारों के साथ संघर्ष करती है। : Hamen jo mukti milee hai usake lie ham kya kar rahe hain? yah hamen apanee saamaajik vyavastha ko sudhaarane ke lie milee hai. jo asamaanata, bhedabhaav aur any cheejon se bharee huee hai, jo hamaare maulik adhikaaron ke saath sangharsh karata hai. - डॉ॰ बी॰ आर॰ अम्बेडकर

यदि पाकिस्तान का हमारे देश के किसी भी हिस्से को हड़पने का इरादा है, तो उसे नए सिरे से सोचना चाहिए। मैं स्पष्ट रूप से कहना चाहता हूँ कि बल का बल से सामना होगा और हमारे खिलाफ़ आक्रामकता कभी भी सफ़ल नहीं होने दी जायेगी - yadi paakistaan ka hamaare desh ke kisee bhee hisse ko hadapane ka iraada hai, to use nae sire se sochana chaahie. main spasht roop se kahana chaahata hoon ki bal ka bal se saamana hoga aur hamaare khilaaf aakraamakata kabhee bhee safal nahin hone vaalee hogee.) : लाल बहादुर शास्त्री

यदि पाकिस्तान का हमारे देश के किसी भी हिस्से को हड़पने का इरादा है, तो उसे नए सिरे से सोचना चाहिए। मैं स्पष्ट रूप से कहना चाहता हूँ कि बल का बल से सामना होगा और हमारे खिलाफ़ आक्रामकता कभी भी सफ़ल नहीं होने दी जायेगी। : Yadi paakistaan ka hamaare desh ke kisee bhee hisse ko hadapane ka iraada hai, to use nae sire se sochana chaahie. main spasht roop se kahana chaahata hoon ki bal ka bal se saamana hoga aur hamaare khilaaf aakraamakata kabhee bhee safal nahin hone vaalee hogee.) - लाल बहादुर शास्त्री

यदि किसी देश को भ्रस्टाचार-मुक्त और सुन्दर-मन वाले लोगो का देश बनाना है तो मेरा द्रढ़ता पूर्वक मानना है कि समाज के तीन प्रमुख सदस्य यह कर सकते हैं – माता, पिता और गुरु - yadi kisee desh ko bhrastaachaar-mukt aur sundar-man vaale logo ka desh banaana hai to mera draadata poorvak maanana hai ki samaaj ke teen pramukh sadasy yah kar sakate hain - maata, pita aur guru. : ए पी जे अब्दुल कलाम

यदि किसी देश को भ्रस्टाचार-मुक्त और सुन्दर-मन वाले लोगो का देश बनाना है तो मेरा द्रढ़ता पूर्वक मानना है कि समाज के तीन प्रमुख सदस्य यह कर सकते हैं – माता, पिता और गुरु। : Yadi kisee desh ko bhrastaachaar-mukt aur sundar-man vaale logo ka desh banaana hai to mera draadata poorvak maanana hai ki samaaj ke teen pramukh sadasy yah kar sakate hain - maata, pita aur guru. - ए पी जे अब्दुल कलाम

स्वतंत्र भारत में कोई भी भूख से नहीं मरेगा। अनाज निर्यात नहीं किया जायेगा। कपड़ों का आयात नहीं किया जाएगा। इसके नेता ना विदेशी भाषा का प्रयोग करेंगे ना किसी दूरस्थ स्थान, समुद्र स्तर से 7000 फुट ऊपर से शासन करेंगे। इसके सैन्य खर्च भारी नहीं होंगे, इसकी सेना अपने ही लोगों या किसी और की भूमि को अधीन नहीं करेगी। इसके सबसे अच्छे वेतन पाने वाले अधिकारी इसके सबसे कम वेतन पाने वाले सेवकों से बहुत ज्यादा नहीं कमाएंगे और यहाँ न्याय पाना ना खर्चीला होगा, ना कठिन होगा - svatantr bhaarat mein koee bhee bhookh se nahin marega. anaaj disk nahin kiya jaega. kapadon ka aayaat nahin kiya jaega. isake neta na videshee bhaasha ka prayog karenge na kisee doorasth sthaan, samudr tal se 7000 phut oopar se shaasan karenge. isake sainy kharch bhaaree nahin honge, isakee sena apane hee logon ya kisee aur kee bhoomi ko adheen nahin karegee. isake sabase achchhe vetan paane vaale adhikaaree isake sabase kam vetan paane vaale sevakon se bahut jyaada nahin kamaenge aur yahaan nyaay paana na kharcheela hoga, na kathin hoga. : सरदार वल्लभ भाई पटेल

स्वतंत्र भारत में कोई भी भूख से नहीं मरेगा। अनाज निर्यात नहीं किया जायेगा। कपड़ों का आयात नहीं किया जाएगा। इसके नेता ना विदेशी भाषा का प्रयोग करेंगे ना किसी दूरस्थ स्थान, समुद्र स्तर से 7000 फुट ऊपर से शासन करेंगे। इसके सैन्य खर्च भारी नहीं होंगे, इसकी सेना अपने ही लोगों या किसी और की भूमि को अधीन नहीं करेगी। इसके सबसे अच्छे वेतन पाने वाले अधिकारी इसके सबसे कम वेतन पाने वाले सेवकों से बहुत ज्यादा नहीं कमाएंगे और यहाँ न्याय पाना ना खर्चीला होगा, ना कठिन होगा। : Svatantr bhaarat mein koee bhee bhookh se nahin marega. anaaj disk nahin kiya jaega. kapadon ka aayaat nahin kiya jaega. isake neta na videshee bhaasha ka prayog karenge na kisee doorasth sthaan, samudr tal se 7000 phut oopar se shaasan karenge. isake sainy kharch bhaaree nahin honge, isakee sena apane hee logon ya kisee aur kee bhoomi ko adheen nahin karegee. isake sabase achchhe vetan paane vaale adhikaaree isake sabase kam vetan paane vaale sevakon se bahut jyaada nahin kamaenge aur yahaan nyaay paana na kharcheela hoga, na kathin hoga. - सरदार वल्लभ भाई पटेल