नमाज़ की फ़िक्र अपने ऊपर फ़र्ज़ करलो..!! खुदा की कसम दुनिया की फ़िक्र से आज़ाद हो जाओगे,और क़ामयाबी तुम्हारे क़दम चूमेंगी - namaaz ki fikr apne upar farz karlo, khuda ki kasam duniya ki fikr se azad ho jaoge, aur kamayaabi tumhare kadam chumengi : हजरत अली

नमाज़ की फ़िक्र अपने ऊपर फ़र्ज़ करलो..!! खुदा की कसम दुनिया की फ़िक्र से आज़ाद हो जाओगे,और क़ामयाबी तुम्हारे क़दम चूमेंगी। : Namaaz ki fikr apne upar farz karlo, khuda ki kasam duniya ki fikr se azad ho jaoge, aur kamayaabi tumhare kadam chumengi - हजरत अली

अपने जिस्म को ज़रूरत से ज़्यादा न सवारों,क्योंकि इसे तो मिट्टी में मिल जाना है, सवॉरना है तो अपनी रूह को सवॉरों क्योंकि इसे तुम्हारे रब के पास जाना है - apne jism ko zarurat se zyada na savaron, kyonki ise to mitti mein mil jaana hai, savarna hai to apni rooh ko savaron kyonki ise tumhare rab ke paas jaana hai. : हजरत अली

अपने जिस्म को ज़रूरत से ज़्यादा न सवारों,क्योंकि इसे तो मिट्टी में मिल जाना है, सवॉरना है तो अपनी रूह को सवॉरों क्योंकि इसे तुम्हारे रब के पास जाना है। : Apne jism ko zarurat se zyada na savaron, kyonki ise to mitti mein mil jaana hai, savarna hai to apni rooh ko savaron kyonki ise tumhare rab ke paas jaana hai. - हजरत अली

जो लोग सिर्फ तुम्हे काम के वक़्त याद करते हे उन लोगो के काम ज़रूर आओ क्यों के वो अंधेरो में रौशनी ढूँढ़ते हे और वो रौशनी तुम हो - jo log sirf tumhe kaam ke waqt yaad karte hai un logo ke kaam zaroor aao kyon ke wo andheron mein roshani dhundte hai aur wo roshani tum ho : हजरत अली

जो लोग सिर्फ तुम्हे काम के वक़्त याद करते हे उन लोगो के काम ज़रूर आओ क्यों के वो अंधेरो में रौशनी ढूँढ़ते हे और वो रौशनी तुम हो : Jo log sirf tumhe kaam ke waqt yaad karte hai un logo ke kaam zaroor aao kyon ke wo andheron mein roshani dhundte hai aur wo roshani  tum ho - हजरत अली

जब भी मैं उदास महसूस करती हूं तो मैं काम में व्यस्त हो जाती हूं, काम में व्यस्तता उदासी की उत्तम दवाई है - jab bhi main udaas mahasoos karti hoon to main kaam mein vyast ho jaati hoon, kaam mein vyastata udaasi ki uttam davai hai. : एलेनोर रूजवेल्ट

जब भी मैं उदास महसूस करती हूं तो मैं काम में व्यस्त हो जाती हूं, काम में व्यस्तता उदासी की उत्तम दवाई है। : Jab bhi main udaas mahasoos karti hoon to main kaam mein vyast ho jaati hoon, kaam mein vyastata udaasi ki uttam davai hai. - एलेनोर रूजवेल्ट

मेरी प्रशंसा और जय-जय कार करने से अच्छा है, मेरे दिखाये गए मार्ग पर चलो - meree prashansa aur jay-jay kaar karane se achchha hai, mere dikhaaye gae maarg par chalo. : डॉ॰ बी॰ आर॰ अम्बेडकर

मेरी प्रशंसा और जय-जय कार करने से अच्छा है, मेरे दिखाये गए मार्ग पर चलो। : Meree prashansa aur jay-jay kaar karane se achchha hai, mere dikhaaye gae maarg par chalo. - डॉ॰ बी॰ आर॰ अम्बेडकर