जो तर्क को अनसुना कर देते हैं, वह कट्टर हैं | जो तर्क ही नहीं कर सकते, वह मुर्ख हैं और जो तर्क करने का साहस ही नहीं दिखा सकते, वह गुलाम हैं - jo tak ko ansuna kar deta hain, ve kattar hain. jo tark hi nahi kar sakte, ve moorkh hain aur jo tark karne ka sahas nahi dikhate, ve gulaam. : विलियम ड्रूरंट

जो तर्क को अनसुना कर देते हैं, वह कट्टर हैं | जो तर्क ही नहीं कर सकते, वह मुर्ख हैं और जो तर्क करने का साहस ही नहीं दिखा सकते, वह गुलाम हैं। : Jo tak ko ansuna kar deta hain, ve kattar hain. jo tark hi nahi kar sakte, ve moorkh hain aur jo tark karne ka sahas nahi dikhate, ve gulaam. - विलियम ड्रूरंट