सत्य के मार्ग पर चलने हेतु बुरे का त्याग अवश्यक है, चरित्र का सुधार आवश्यक है - saty ke maarg par chalane ke lie bure ka tyaag avagat hai, charitr ka sudhaar aavashyak hai. : सरदार वल्लभ भाई पटेल

सत्य के मार्ग पर चलने हेतु बुरे का त्याग अवश्यक है, चरित्र का सुधार आवश्यक है। : Saty ke maarg par chalane ke lie bure ka tyaag avagat hai, charitr ka sudhaar aavashyak hai. - सरदार वल्लभ भाई पटेल

हमने यह महसूस किया है कि यदि हमने विभाजन स्वीकार नहीं किया तो भारत छोटे – छोटे टुकड़ों में विभाजित होकर विनष्ट हो जाएगा। कार्यालय में मेरे एक वर्ष के अनुभव से मुझे ज्ञात हुआ कि हम जिस रास्ते पर चल रहे थे वह हमें विनाश की ओर ले जा रहा था। ऐसा करने पर हमारे पास एक नहीं कई पाकिस्तान होते। हमारे प्रत्येक कार्यालय में एक पाकिस्तानी शाखा होती - hamane yah mahasoos kiya hai ki yadi hamane vibhaajan sveekaar nahin kiya to bhaarat chhote - chhote tukadon mein vibhaajit hokar vinasht ho jaega. kaaryaalay mein mere ek varsh ke anubhav se mujhe gyaat hua ki ham jis raaste par chal rahe the vah hamen vinaash kee or le ja raha tha. aisa karane par hamaare paas ek nahin kaee paakistaan hain. hamaare pratyek kaaryaalay mein ek paakistaanee shaakha hotee hai. : सरदार वल्लभ भाई पटेल

हमने यह महसूस किया है कि यदि हमने विभाजन स्वीकार नहीं किया तो भारत छोटे – छोटे टुकड़ों में विभाजित होकर विनष्ट हो जाएगा। कार्यालय में मेरे एक वर्ष के अनुभव से मुझे ज्ञात हुआ कि हम जिस रास्ते पर चल रहे थे वह हमें विनाश की ओर ले जा रहा था। ऐसा करने पर हमारे पास एक नहीं कई पाकिस्तान होते। हमारे प्रत्येक कार्यालय में एक पाकिस्तानी शाखा होती। : Hamane yah mahasoos kiya hai ki yadi hamane vibhaajan sveekaar nahin kiya to bhaarat chhote - chhote tukadon mein vibhaajit hokar vinasht ho jaega. kaaryaalay mein mere ek varsh ke anubhav se mujhe gyaat hua ki ham jis raaste par chal rahe the vah hamen vinaash kee or le ja raha tha. aisa karane par hamaare paas ek nahin kaee paakistaan hain. hamaare pratyek kaaryaalay mein ek paakistaanee shaakha hotee hai. - सरदार वल्लभ भाई पटेल

जीतने की संकल्प शक्ति, सफल होने की इच्छा और अपने अंदर मौजूद क्षमताओं के उच्चतम् स्तर तक पहुंचने की तीव्र अभिलाषा, ये ऐसी चाबियां हैं जो व्यक्तिगत उत्कृष्टता के बंद दरवाजे खोल देती है - jeetne ki sankalp shakti, safal hone ki ichha aur apne andar mauzood kshamtao ke uchchatam star tak pahunchne kee teevra abhilasha, ye esi chaabiyan hain ji vyakti ki utkrishtata ke band darwaje khol deti hain. : कन्फ्युशियस

जीतने की संकल्प शक्ति, सफल होने की इच्छा और अपने अंदर मौजूद क्षमताओं के उच्चतम् स्तर तक पहुंचने की तीव्र अभिलाषा, ये ऐसी चाबियां हैं जो व्यक्तिगत उत्कृष्टता के बंद दरवाजे खोल देती है। : Jeetne ki sankalp shakti, safal hone ki ichha aur apne andar mauzood kshamtao ke uchchatam star tak pahunchne kee teevra abhilasha, ye esi chaabiyan hain ji vyakti ki utkrishtata ke band darwaje khol deti hain. - कन्फ्युशियस

जीवन ताश के पत्तों के खेल की तरह है। आपके हाथ में जो है वह नियति है, जिस तरह से आप खेलते हैं वह स्वतंत्र इच्छा है - jeevan kaard ke patton ke khel kee tarah hai. aapake haath mein jo hai vah niyati hai, jis tarah se aap khelate hain vah svatantr ichchha hai. : जवाहरलाल नेहरू

जीवन ताश के पत्तों के खेल की तरह है। आपके हाथ में जो है वह नियति है, जिस तरह से आप खेलते हैं वह स्वतंत्र इच्छा है। : Jeevan kaard ke patton ke khel kee tarah hai. aapake haath mein jo hai vah niyati hai, jis tarah se aap khelate hain vah svatantr ichchha hai. - जवाहरलाल नेहरू