हमने यह महसूस किया है कि यदि हमने विभाजन स्वीकार नहीं किया तो भारत छोटे – छोटे टुकड़ों में विभाजित होकर विनष्ट हो जाएगा। कार्यालय में मेरे एक वर्ष के अनुभव से मुझे ज्ञात हुआ कि हम जिस रास्ते पर चल रहे थे वह हमें विनाश की ओर ले जा रहा था। ऐसा करने पर हमारे पास एक नहीं कई पाकिस्तान होते। हमारे प्रत्येक कार्यालय में एक पाकिस्तानी शाखा होती।

इमेज का डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया है

हमने यह महसूस किया है कि यदि हमने विभाजन स्वीकार नहीं किया तो भारत छोटे – छोटे टुकड़ों में विभाजित होकर विनष्ट हो जाएगा। कार्यालय में मेरे एक वर्ष के अनुभव से मुझे ज्ञात हुआ कि हम जिस रास्ते पर चल रहे थे वह हमें विनाश की ओर ले जा रहा था। ऐसा करने पर हमारे पास एक नहीं कई पाकिस्तान होते। हमारे प्रत्येक कार्यालय में एक पाकिस्तानी शाखा होती। : Hamane yah mahasoos kiya hai ki yadi hamane vibhaajan sveekaar nahin kiya to bhaarat chhote - chhote tukadon mein vibhaajit hokar vinasht ho jaega. kaaryaalay mein mere ek varsh ke anubhav se mujhe gyaat hua ki ham jis raaste par chal rahe the vah hamen vinaash kee or le ja raha tha. aisa karane par hamaare paas ek nahin kaee paakistaan hain. hamaare pratyek kaaryaalay mein ek paakistaanee shaakha hotee hai. - सरदार वल्लभ भाई पटेलहमने यह महसूस किया है कि यदि हमने विभाजन स्वीकार नहीं किया तो भारत छोटे – छोटे टुकड़ों में विभाजित होकर विनष्ट हो जाएगा। कार्यालय में मेरे एक वर्ष के अनुभव से मुझे ज्ञात हुआ कि हम जिस रास्ते पर चल रहे थे वह हमें विनाश की ओर ले जा रहा था। ऐसा करने पर हमारे पास एक नहीं कई पाकिस्तान होते। हमारे प्रत्येक कार्यालय में एक पाकिस्तानी शाखा होती। : Hamane yah mahasoos kiya hai ki yadi hamane vibhaajan sveekaar nahin kiya to bhaarat chhote - chhote tukadon mein vibhaajit hokar vinasht ho jaega. kaaryaalay mein mere ek varsh ke anubhav se mujhe gyaat hua ki ham jis raaste par chal rahe the vah hamen vinaash kee or le ja raha tha. aisa karane par hamaare paas ek nahin kaee paakistaan hain. hamaare pratyek kaaryaalay mein ek paakistaanee shaakha hotee hai. - सरदार वल्लभ भाई पटेल

hamane yah mahasoos kiya hai ki yadi hamane vibhaajan sveekaar nahin kiya to bhaarat chhote - chhote tukadon mein vibhaajit hokar vinasht ho jaega. kaaryaalay mein mere ek varsh ke anubhav se mujhe gyaat hua ki ham jis raaste par chal rahe the vah hamen vinaash kee or le ja raha tha. aisa karane par hamaare paas ek nahin kaee paakistaan hain. hamaare pratyek kaaryaalay mein ek paakistaanee shaakha hotee hai. | हमने यह महसूस किया है कि यदि हमने विभाजन स्वीकार नहीं किया तो भारत छोटे – छोटे टुकड़ों में विभाजित होकर विनष्ट हो जाएगा। कार्यालय में मेरे एक वर्ष के अनुभव से मुझे ज्ञात हुआ कि हम जिस रास्ते पर चल रहे थे वह हमें विनाश की ओर ले जा रहा था। ऐसा करने पर हमारे पास एक नहीं कई पाकिस्तान होते। हमारे प्रत्येक कार्यालय में एक पाकिस्तानी शाखा होती।