निहित स्वार्थों को तब तक स्वेच्छा से नहीं छोड़ा गया है जब तक कि मजबूर करने के लिए पर्याप्त बल ना लगाया गया हो - nihit svaarthon ko tab tak svechchha se nahin chhoda gaya hai jab tak ki majaboor karane ke lie paryaapt bal na lagaaya gaya ho. : डॉ॰ बी॰ आर॰ अम्बेडकर

निहित स्वार्थों को तब तक स्वेच्छा से नहीं छोड़ा गया है जब तक कि मजबूर करने के लिए पर्याप्त बल ना लगाया गया हो। : Nihit svaarthon ko tab tak svechchha se nahin chhoda gaya hai jab tak ki majaboor karane ke lie paryaapt bal na lagaaya gaya ho. - डॉ॰ बी॰ आर॰ अम्बेडकर

हमारे संविधान में मत का अधिकार एक ऐसी ताकत है जो कि किसी ब्रह्मास्त्र से कही अधिक ताकत रखता है - hamaare sanvidhaan mein mat ka adhikaar ek aisee shakti hai jo kisee brahmaastr se kahee adhik shakti rakhata hai. : डॉ॰ बी॰ आर॰ अम्बेडकर

हमारे संविधान में मत का अधिकार एक ऐसी ताकत है जो कि किसी ब्रह्मास्त्र से कही अधिक ताकत रखता है। : Hamaare sanvidhaan mein mat ka adhikaar ek aisee shakti hai jo kisee brahmaastr se kahee adhik shakti rakhata hai. - डॉ॰ बी॰ आर॰ अम्बेडकर

भाग्य से ज्यादा अपने आप पर विश्वास करो। भाग्य में विश्वास रखने के बजाय शक्ति और कर्म में विश्वास रखना चाहिए - bhaagy se jyaada aap apane aap par vishvaas karate hain. bhaagy mein vishvaas rakhane ke bajaay shakti aur karm mein vishvaas rakhana chaahie. : डॉ॰ बी॰ आर॰ अम्बेडकर

भाग्य से ज्यादा अपने आप पर विश्वास करो। भाग्य में विश्वास रखने के बजाय शक्ति और कर्म में विश्वास रखना चाहिए। : Bhaagy se jyaada aap apane aap par vishvaas karate hain. bhaagy mein vishvaas rakhane ke bajaay shakti aur karm mein vishvaas rakhana chaahie. - डॉ॰ बी॰ आर॰ अम्बेडकर

यदि हम एक संयुक्त एकीकृत आधुनिक भारत चाहते हैं, तो सभी धर्मों के धर्मग्रंथों की संप्रभुता का अंत होना चाहिए - yadi ham ek sanyukt ekeekrt aadhunik bhaarat chaahate hain, to sabhee dharmon ke dharmagranthon kee samprabhuta ka ant hona chaahie. : डॉ॰ बी॰ आर॰ अम्बेडकर

यदि हम एक संयुक्त एकीकृत आधुनिक भारत चाहते हैं, तो सभी धर्मों के धर्मग्रंथों की संप्रभुता का अंत होना चाहिए। : Yadi ham ek sanyukt ekeekrt aadhunik bhaarat chaahate hain, to sabhee dharmon ke dharmagranthon kee samprabhuta ka ant hona chaahie. - डॉ॰ बी॰ आर॰ अम्बेडकर