यदि हर इंसान द्वारा शिक्षा के वास्तविक अर्थ को समझ लिया जाता और उस शिक्षा को मानव गतिविधि के प्रत्येक क्षेत्र में आगे बढ़ाया जाता तो यह दुनिया रहने लिए कहीं ज्यादा अच्छी जगह होती - yadi har vyakti dvaara shiksha ke vaastavik arth ko samajh liya jaata hai aur us shiksha ko maanav gatividhi ke pratyek kshetr mein aage badhaaya jaata hai to yah duniya rahane ke lie kaheen jyaada achchhee jagah hotee hai. : ए पी जे अब्दुल कलाम

यदि हर इंसान द्वारा शिक्षा के वास्तविक अर्थ को समझ लिया जाता और उस शिक्षा को मानव गतिविधि के प्रत्येक क्षेत्र में आगे बढ़ाया जाता तो यह दुनिया रहने लिए कहीं ज्यादा अच्छी जगह होती। : Yadi har vyakti dvaara shiksha ke vaastavik arth ko samajh liya jaata hai aur us shiksha ko maanav gatividhi ke pratyek kshetr mein aage badhaaya jaata hai to yah duniya rahane ke lie kaheen jyaada achchhee jagah hotee hai. - ए पी जे अब्दुल कलाम

अंग्रेजी आवश्यक है क्योंकि वर्तमान में विज्ञान के मूल काम अंग्रेजी में हैं. मेरा विश्वास है कि अगले दो दशक में विज्ञान के मूल काम हमारी भाषाओँ में आने शुरू हो जायेंगे, तब हम जापानियों की तरह आगे बढ़ सकेंगे - agrezi aavshyak hai kyonki vartman me vigyan ke mool kaam angrezi me hain. mera vishvas hai k agle do dashak me vigyan ke kaam hamari bhashaon me aane shuru ho jayenge tab hum japaniyo ki tarah aage badhenge. : ए पी जे अब्दुल कलाम

अंग्रेजी आवश्यक है क्योंकि वर्तमान में विज्ञान के मूल काम अंग्रेजी में हैं. मेरा विश्वास है कि अगले दो दशक में विज्ञान के मूल काम हमारी भाषाओँ में आने शुरू हो जायेंगे, तब हम जापानियों की तरह आगे बढ़ सकेंगे। : Agrezi aavshyak hai kyonki vartman me vigyan ke mool kaam angrezi me hain. mera vishvas hai k agle do dashak me vigyan ke kaam hamari bhashaon me aane shuru ho jayenge tab hum japaniyo ki tarah aage badhenge. - ए पी जे अब्दुल कलाम

महान लोग आईडिया पर बात करते हैं, साधारण लोग रोजमर्रा घटनाक्रम की बात करते हैं, और निम्न स्तर के लोग दूसरों के बारे में बात करते हैं - mahaan log idea par baat karte hain, sadharan log rojmarra ghatnakram ki baat karte hain, aur nimn star ke log doosaron ke bare mein baat karte hain. : एलेनोर रुज़वेल्ट

महान लोग आईडिया पर बात करते हैं, साधारण लोग रोजमर्रा घटनाक्रम की बात करते हैं, और निम्न स्तर के लोग दूसरों के बारे में बात करते हैं। : Mahaan log idea par baat karte hain, sadharan log rojmarra ghatnakram ki baat karte hain, aur nimn star ke log doosaron ke bare mein baat karte hain. - एलेनोर रुज़वेल्ट

निहित स्वार्थों को तब तक स्वेच्छा से नहीं छोड़ा गया है जब तक कि मजबूर करने के लिए पर्याप्त बल ना लगाया गया हो - nihit svaarthon ko tab tak svechchha se nahin chhoda gaya hai jab tak ki majaboor karane ke lie paryaapt bal na lagaaya gaya ho. : डॉ॰ बी॰ आर॰ अम्बेडकर

निहित स्वार्थों को तब तक स्वेच्छा से नहीं छोड़ा गया है जब तक कि मजबूर करने के लिए पर्याप्त बल ना लगाया गया हो। : Nihit svaarthon ko tab tak svechchha se nahin chhoda gaya hai jab tak ki majaboor karane ke lie paryaapt bal na lagaaya gaya ho. - डॉ॰ बी॰ आर॰ अम्बेडकर