मैं यह नहीं कहूँगा कि मैं 1000 बार असफल हुआ, मैं यह कहूँगा कि ऐसे 1000 रास्ते हैं जो आपको सफलता से दूर ले जाते हैं - main yah nahi kahunga ki 1000 baar asafal hua, main yah kahunga ki aise 1000 raaste hain jo aapko safalta se door le jaate hain. : थॉमस अल्वा एडिसन

मैं यह नहीं कहूँगा कि मैं 1000 बार असफल हुआ, मैं यह कहूँगा कि ऐसे 1000 रास्ते हैं जो आपको सफलता से दूर ले जाते हैं। : Main yah nahi kahunga ki 1000 baar asafal hua, main yah kahunga ki aise 1000 raaste hain jo aapko safalta se door le jaate hain. - थॉमस अल्वा एडिसन

मुझे ग्रामीण क्षेत्रों में एक मामूली कार्यकर्ता के रूप में लगभग पचास वर्ष तक कार्य करना पड़ा है, इसलिए मेरा ध्यान स्वत: ही उन लोगों की ओर तथा उन क्षेत्रों के हालात पर चला जाता है - mujhe graameen kshetron mein ek maamoolee kaaryakarta ke roop mein lagabhag pachaas varsh tak kaary karana pada hai, isalie mera dhyaan svatah: keval un logon kee or aur un kshetron ke haalaat par chala jaata hai. : लाल बहादुर शास्त्री

मुझे ग्रामीण क्षेत्रों में एक मामूली कार्यकर्ता के रूप में लगभग पचास वर्ष तक कार्य करना पड़ा है, इसलिए मेरा ध्यान स्वत: ही उन लोगों की ओर तथा उन क्षेत्रों के हालात पर चला जाता है। : Mujhe graameen kshetron mein ek maamoolee kaaryakarta ke roop mein lagabhag pachaas varsh tak kaary karana pada hai, isalie mera dhyaan svatah: keval un logon kee or aur un kshetron ke haalaat par chala jaata hai. - लाल बहादुर शास्त्री

जीवन ताश के पत्तों के खेल की तरह है। आपके हाथ में जो है वह नियति है, जिस तरह से आप खेलते हैं वह स्वतंत्र इच्छा है - jeevan kaard ke patton ke khel kee tarah hai. aapake haath mein jo hai vah niyati hai, jis tarah se aap khelate hain vah svatantr ichchha hai. : जवाहरलाल नेहरू

जीवन ताश के पत्तों के खेल की तरह है। आपके हाथ में जो है वह नियति है, जिस तरह से आप खेलते हैं वह स्वतंत्र इच्छा है। : Jeevan kaard ke patton ke khel kee tarah hai. aapake haath mein jo hai vah niyati hai, jis tarah se aap khelate hain vah svatantr ichchha hai. - जवाहरलाल नेहरू

थका हुआ इंसान दौड़ने लगे तो स्थान पर पहुँचने के बजाय जान गंवा बेठता है, ऐसे समय पर आराम करना और आगे बढ़ने की ताकत जुटाना उसका धर्म हो जाता है - thaka hua insaan daudane lage to sthaan par pahunchane ke bajaay jaan ganva bethata hai, aise samay par aaraam karana aur aage badhane kee taakat jutaana usaka dharm ho jaata hai. : सरदार वल्लभ भाई पटेल

थका हुआ इंसान दौड़ने लगे तो स्थान पर पहुँचने के बजाय जान गंवा बेठता है, ऐसे समय पर आराम करना और आगे बढ़ने की ताकत जुटाना उसका धर्म हो जाता है। : Thaka hua insaan daudane lage to sthaan par pahunchane ke bajaay jaan ganva bethata hai, aise samay par aaraam karana aur aage badhane kee taakat jutaana usaka dharm ho jaata hai. - सरदार वल्लभ भाई पटेल

जब तक हमारा अंतिम ध्येय प्राप्त ना हो जाए तब तक उत्तरोत्तर अधिक कष्ट सहन करने की शक्ति हमारे अन्दर आये, यही सच्ची विजय है - jab tak hamaara antim dhyey praapt na ho jae tab tak uttaraarddh adhik kasht sahan karane kee shakti hamaare andar aaye, yahee sachcha vijay hai. : सरदार वल्लभ भाई पटेल

जब तक हमारा अंतिम ध्येय प्राप्त ना हो जाए तब तक उत्तरोत्तर अधिक कष्ट सहन करने की शक्ति हमारे अन्दर आये, यही सच्ची विजय है। : Jab tak hamaara antim dhyey praapt na ho jae tab tak uttaraarddh adhik kasht sahan karane kee shakti hamaare andar aaye, yahee sachcha vijay hai. - सरदार वल्लभ भाई पटेल