सिर्फ तर्क करने वाला दिमाग एक ऐसे चाक़ू की तरह है जिसमे सिर्फ ब्लेड है। यह इसका प्रयोग करने वाले के हाथ से खून निकाल देता है - sirf tark karne wala dimag ek aise chaakoo ki tarah hai jisme sirf ek blade hai. iska prayog karne wale ke hatho se yah khoon nikaal deta hai. : रवीन्द्रनाथ टैगोर

सिर्फ तर्क करने वाला दिमाग एक ऐसे चाक़ू की तरह है जिसमे सिर्फ ब्लेड है। यह इसका प्रयोग करने वाले के हाथ से खून निकाल देता है। : Sirf tark karne wala dimag ek aise chaakoo ki tarah hai jisme sirf ek blade hai. iska prayog karne wale ke hatho se yah khoon nikaal deta hai. - रवीन्द्रनाथ टैगोर

वे लोग जो अच्छाई करने में बहुत ज्यादा व्यस्त होते है, स्वयं अच्छा होने के लिए समय नहीं निकाल पाते - ve log jo achchhai karne mein bahut jyada vyast hote hain , swayam achcha hone ke lie samay nahi nikaal paate. : रवीन्द्रनाथ टैगोर

वे लोग जो अच्छाई करने में बहुत ज्यादा व्यस्त होते है, स्वयं अच्छा होने के लिए समय नहीं निकाल पाते। : Ve log jo achchhai karne mein bahut jyada vyast hote hain , swayam achcha hone ke lie samay nahi nikaal paate. - रवीन्द्रनाथ टैगोर