मैं हमेशा अपने मन में दूसरों को ऐसी सलाह देने में असहज महसूस करता रहा हूँ, जिस पर मैं खुद अमल नहीं कर रहा होता - main hamesha apane man mein doosaron ko aisee salaah dene mein kushal mahasoos karata raha hoon, jis par main khud amal nahin kar raha hoon. : लाल बहादुर शास्त्री

मैं हमेशा अपने मन में दूसरों को ऐसी सलाह देने में असहज महसूस करता रहा हूँ, जिस पर मैं खुद अमल नहीं कर रहा होता। : Main hamesha apane man mein doosaron ko aisee salaah dene mein kushal mahasoos karata raha hoon, jis par main khud amal nahin kar raha hoon. - लाल बहादुर शास्त्री

मेरे दिमाग में यह बात आती है कि सर्वप्रथम उन लोगों को राहत दी जाए । हर रोज हर समय मैं यही सोचता हूं कि उन्हे किस प्रकार से राहत पहुंचाई जाए - mere dimaag mein yah baat aatee hai ki sarvapratham un logon ko raahat dee jaanee chaahie. har roj har samay main yahee sochata hoon ki unhe kis prakaar se raahat pahunchaee jae. : लाल बहादुर शास्त्री

मेरे दिमाग में यह बात आती है कि सर्वप्रथम उन लोगों को राहत दी जाए । हर रोज हर समय मैं यही सोचता हूं कि उन्हे किस प्रकार से राहत पहुंचाई जाए। : Mere dimaag mein yah baat aatee hai ki sarvapratham un logon ko raahat dee jaanee chaahie. har roj har samay main yahee sochata hoon ki unhe kis prakaar se raahat pahunchaee jae. - लाल बहादुर शास्त्री

हम भले ही अपने देश की आजादी चाहते हैं, लेकिन उसके लिए ना ही हम किसी का शोषण करेंगे और ना ही दूसरे देशों को नीचा दिखाएंगे - ham bhale hee apane desh kee aajaadee chaahate hain, lekin usake lie na hee ham kisee ka shoshan karenge aur na hee doosare deshon ko neecha dikhaaya jaega. : लाल बहादुर शास्त्री

हम भले ही अपने देश की आजादी चाहते हैं, लेकिन उसके लिए ना ही हम किसी का शोषण करेंगे और ना ही दूसरे देशों को नीचा दिखाएंगे। : Ham bhale hee apane desh kee aajaadee chaahate hain, lekin usake lie na hee ham kisee ka shoshan karenge aur na hee doosare deshon ko neecha dikhaaya jaega. - लाल बहादुर शास्त्री

जो व्यक्ति अधिकतर अपने ही गुणों का बखान करता रहता है वो अक्सर सबसे कम गुणी होता है - jo vyakti jyaadaatar apane hee gunon ka bakhaan karata rahata hai vah aksar sabase kam gunee hota hai. : जवाहरलाल नेहरू

जो व्यक्ति अधिकतर अपने ही गुणों का बखान करता रहता है वो अक्सर सबसे कम गुणी होता है। : Jo vyakti jyaadaatar apane hee gunon ka bakhaan karata rahata hai vah aksar sabase kam gunee hota hai. - जवाहरलाल नेहरू

सेवा करने वाले मनुष्य को विन्रमता सीखनी चाहिए, वर्दी पहन कर अभिमान नहीं, विनम्रता आनी चाहिए - seva karane vaale manushy ko vinramata seekhanee chaahie, vardee pahan kar abhimaan nahin, vinamrata se aanee chaahie. : सरदार वल्लभ भाई पटेल

सेवा करने वाले मनुष्य को विन्रमता सीखनी चाहिए, वर्दी पहन कर अभिमान नहीं, विनम्रता आनी चाहिए। : Seva karane vaale manushy ko vinramata seekhanee chaahie, vardee pahan kar abhimaan nahin, vinamrata se aanee chaahie. - सरदार वल्लभ भाई पटेल

सत्य के मार्ग पर चलने हेतु बुरे का त्याग अवश्यक है, चरित्र का सुधार आवश्यक है - saty ke maarg par chalane ke lie bure ka tyaag avagat hai, charitr ka sudhaar aavashyak hai. : सरदार वल्लभ भाई पटेल

सत्य के मार्ग पर चलने हेतु बुरे का त्याग अवश्यक है, चरित्र का सुधार आवश्यक है। : Saty ke maarg par chalane ke lie bure ka tyaag avagat hai, charitr ka sudhaar aavashyak hai. - सरदार वल्लभ भाई पटेल

सत्ताधीशों की सत्ता उनकी मृत्यु के साथ ही समाप्त हो जाती है, पर महान देशभक्तों की सत्ता मरने के बाद काम करती है, अतः देशभक्ति अर्थात् देश-सेवा में जो मिठास है, वह और किसी चीज में नहीं - sattaadheeshon kee satta unakee mrtyu ke saath hee samaapt ho jaatee hai, par mahaan deshabhakton kee satta marane ke baad kaam karatee hai, atah deshabhakti arthaat desh-seva mein jo mithaas hai, vah aur kisee cheej mein nahin। : सरदार वल्लभ भाई पटेल

सत्ताधीशों की सत्ता उनकी मृत्यु के साथ ही समाप्त हो जाती है, पर महान देशभक्तों की सत्ता मरने के बाद काम करती है, अतः देशभक्ति अर्थात् देश-सेवा में जो मिठास है, वह और किसी चीज में नहीं। : Sattaadheeshon kee satta unakee mrtyu ke saath hee samaapt ho jaatee hai, par mahaan deshabhakton kee satta marane ke baad kaam karatee hai, atah deshabhakti arthaat desh-seva mein jo mithaas hai, vah aur kisee cheej mein nahin। - सरदार वल्लभ भाई पटेल