वह जो पचास लोगों से प्रेम करता है उसके पचास संकट हैं, वो जो किसी से प्रेम नहीं करता उसके एक भी संकट नहीं है - wah jo pachaas logo se prem karta hai uske pachaas sankat hain aur jo kisi se prem nahi karta use koi sankat nahin. : गौतम बुद्ध

वह जो पचास लोगों से प्रेम करता है उसके पचास संकट हैं, वो जो किसी से प्रेम नहीं करता उसके एक भी संकट नहीं है। : Wah jo pachaas logo se prem karta hai uske pachaas sankat hain aur jo kisi se prem nahi karta use koi sankat nahin. - गौतम बुद्ध

स्वास्थ्य सबसे महान उपहार है, संतोष सबसे बड़ा धन तथा विश्वसनीयता सबसे अच्छा संबंध है - swasthya sabse mahan uphar hai, santoshsabse bda dhan tatha vishwashneeyta sabse achcha sambandh. : गौतम बुद्ध

स्वास्थ्य सबसे महान उपहार है, संतोष सबसे बड़ा धन तथा विश्वसनीयता सबसे अच्छा संबंध है। : Swasthya sabse mahan uphar hai, santoshsabse bda dhan tatha vishwashneeyta sabse achcha sambandh. - गौतम बुद्ध

अपने बराबर या फिर अपने से समझदार व्यक्तियों के साथ सफ़र कीजिये, मूर्खो के साथ सफ़र करने से अच्छा है अकेले सफ़र करना - apne barabar ya fir samajhdaar vyaktion ke sathnsafar keejiye murkhon ke sath safar karne se achcha hai akele safar karna : गौतम बुद्ध

अपने बराबर या फिर अपने से समझदार व्यक्तियों के साथ सफ़र कीजिये, मूर्खो के साथ सफ़र करने से अच्छा है अकेले सफ़र करना। : Apne barabar ya fir samajhdaar vyaktion ke sathnsafar keejiye murkhon ke sath safar karne se achcha hai akele safar karna - गौतम बुद्ध

आपके पास जो कुछ भी है है उसे बढ़ा-चढ़ा कर मत बताइए, और ना ही दूसरों से इर्ष्या कीजिये। जो दूसरों से इर्ष्या करता है उसे मन की शांति नहीं मिलती - aapke pass jo kuchh bhi hai use badhha chadhakar nmat bataiye aur na hi doosro se irshya keejiye.jo ddoro se irshya krta hai use man ki shnati kabhi nahi milti. : गौतम बुद्ध

आपके पास जो कुछ भी है है उसे बढ़ा-चढ़ा कर मत बताइए, और ना ही दूसरों से इर्ष्या कीजिये। जो दूसरों से इर्ष्या करता है उसे मन की शांति नहीं मिलती। : Aapke pass jo kuchh bhi hai use badhha chadhakar nmat bataiye aur na hi doosro se irshya keejiye.jo ddoro se irshya krta hai use man ki shnati kabhi nahi milti. - गौतम बुद्ध

मैं कभी नहीं देखता की क्या किया जा चुका है; मैं हमेशा देखता हूँ कि क्या किया जाना बाकी है - main kabhi nahi dekhte ki kyakiya ja chuka hai, main hamesha dekhta hu ki kya kiya jana chahiye. : गौतम बुद्ध

मैं कभी नहीं देखता की क्या किया जा चुका है; मैं हमेशा देखता हूँ कि क्या किया जाना बाकी है। : Main kabhi nahi dekhte ki kyakiya ja chuka hai, main hamesha dekhta hu ki kya kiya jana chahiye. - गौतम बुद्ध