यदि हर इंसान द्वारा शिक्षा के वास्तविक अर्थ को समझ लिया जाता और उस शिक्षा को मानव गतिविधि के प्रत्येक क्षेत्र में आगे बढ़ाया जाता तो यह दुनिया रहने लिए कहीं ज्यादा अच्छी जगह होती।

इमेज का डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया है

यदि हर इंसान द्वारा शिक्षा के वास्तविक अर्थ को समझ लिया जाता और उस शिक्षा को मानव गतिविधि के प्रत्येक क्षेत्र में आगे बढ़ाया जाता तो यह दुनिया रहने लिए कहीं ज्यादा अच्छी जगह होती। : Yadi har vyakti dvaara shiksha ke vaastavik arth ko samajh liya jaata hai aur us shiksha ko maanav gatividhi ke pratyek kshetr mein aage badhaaya jaata hai to yah duniya rahane ke lie kaheen jyaada achchhee jagah hotee hai. - ए पी जे अब्दुल कलामयदि हर इंसान द्वारा शिक्षा के वास्तविक अर्थ को समझ लिया जाता और उस शिक्षा को मानव गतिविधि के प्रत्येक क्षेत्र में आगे बढ़ाया जाता तो यह दुनिया रहने लिए कहीं ज्यादा अच्छी जगह होती। : Yadi har vyakti dvaara shiksha ke vaastavik arth ko samajh liya jaata hai aur us shiksha ko maanav gatividhi ke pratyek kshetr mein aage badhaaya jaata hai to yah duniya rahane ke lie kaheen jyaada achchhee jagah hotee hai. - ए पी जे अब्दुल कलाम

yadi har vyakti dvaara shiksha ke vaastavik arth ko samajh liya jaata hai aur us shiksha ko maanav gatividhi ke pratyek kshetr mein aage badhaaya jaata hai to yah duniya rahane ke lie kaheen jyaada achchhee jagah hotee hai. | यदि हर इंसान द्वारा शिक्षा के वास्तविक अर्थ को समझ लिया जाता और उस शिक्षा को मानव गतिविधि के प्रत्येक क्षेत्र में आगे बढ़ाया जाता तो यह दुनिया रहने लिए कहीं ज्यादा अच्छी जगह होती।