नेता शिक्षित और सुयोग्य ही नहीं, प्रखर संकल्प वाला भी होना चाहिए, जो अपनी कथनी और करनी को एकरूप में रख सके।

इमेज का डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया है

नेता शिक्षित और सुयोग्य ही नहीं, प्रखर संकल्प वाला भी होना चाहिए, जो अपनी कथनी और करनी को एकरूप में रख सके। : Neta shikshit aur suyogya hi nahi, prakhar sankalp vala hona chahiye jo apni kathni aur karni ko ekroopta me rakhe. - प्रज्ञा सुभाषितनेता शिक्षित और सुयोग्य ही नहीं, प्रखर संकल्प वाला भी होना चाहिए, जो अपनी कथनी और करनी को एकरूप में रख सके। : Neta shikshit aur suyogya hi nahi, prakhar sankalp vala hona chahiye jo apni kathni aur karni ko ekroopta me rakhe. - प्रज्ञा सुभाषित

Leave A Reply

Your email address will not be published.