बोधविचार - प्रेरक, ज्ञानपूर्ण व बेहतरीन विचारों का संग्रह

कई कम्पनियों ने छंटनी करने का फैसला किया है,शायद उनके लिए ये सही होगा।हमने अलग रास्ता चुना है।हमारा विश्वास है कि अगर हम कस्टमर के सामने अच्छे प्रोडक्ट्स रखते रहेंगे तो वो अपना पर्स खोलते रहेंगे - kai companies ne chhantani karne ka faisla kiya hai, shayd unke liye yahi sahi hoga. humne alag raasta chuna hai, hamara manna hai ki hum jab tak apne coustmer ke saamne apne products rakhte rahenge we apna purse kholte rahenge. : स्टीव जॉब्स

कई कम्पनियों ने छंटनी करने का फैसला किया है,शायद उनके लिए ये सही होगा।हमने अलग रास्ता चुना है।हमारा विश्वास है कि अगर हम कस्टमर के सामने अच्छे प्रोडक्ट्स रखते रहेंगे तो वो अपना पर्स खोलते रहेंगे। : Kai companies ne chhantani karne ka faisla kiya hai, shayd unke liye yahi sahi hoga. humne alag raasta chuna hai, hamara manna hai ki hum jab tak apne coustmer ke saamne apne products rakhte rahenge we apna purse kholte rahenge. - स्टीव जॉब्स

हमारी सोच और हमारा व्यवहार हमेशा किसी प्रतिक्रिया की आशा में होते हैं। इसलिए ये डर पर आधारित हैं - hamari soch aur hamara vyavhaar hamesha kisi pratikriya ki aasha me hote hain isliye ye dar par aadharit hote hain. : दीपक चोपड़ा

हमारी सोच और हमारा व्यवहार हमेशा किसी प्रतिक्रिया की आशा में होते हैं। इसलिए ये डर पर आधारित हैं। : Hamari soch aur hamara vyavhaar hamesha kisi pratikriya ki aasha me hote hain isliye ye dar par aadharit hote hain. - दीपक चोपड़ा

हम जो करते हैं और हम जो कर सकते हैं, इसके बीच का अंतर दुनिया की ज्यादातर समस्याओं के समाधान के लिए पर्याप्त होगा - ham jo karate hain aur ham jo kar sakate hain, isake beech ka antar duniya kee jyaadaatar samasyaon ke samaadhaan ke lie paryaapt hoga. : महात्मा गाँधी

हम जो करते हैं और हम जो कर सकते हैं, इसके बीच का अंतर दुनिया की ज्यादातर समस्याओं के समाधान के लिए पर्याप्त होगा। : Ham jo karate hain aur ham jo kar sakate hain, isake beech ka antar duniya kee jyaadaatar samasyaon ke samaadhaan ke lie paryaapt hoga. - महात्मा गाँधी

जब किसी व्यक्ति द्वारा अपने लक्ष्य को इतनी गहराई से चाहा जाता है कि वह उसके लिए अपना सब कुछ दांव पर लगाने के लिए तैयार होता है, तो उसका जीतना सुनिश्चित होता है - jab kisi vyakti dwara apne lakshya ko itni gehraai se chaha jata hai ki vah uske liye apna sb kuchh daanv par lagaa sake to vah jeet ke liye taiyaar ho jata hai. : नेपोलियन हिल

जब किसी व्यक्ति द्वारा अपने लक्ष्य को इतनी गहराई से चाहा जाता है कि वह उसके लिए अपना सब कुछ दांव पर लगाने के लिए तैयार होता है, तो उसका जीतना सुनिश्चित होता है। : Jab kisi vyakti dwara apne lakshya ko itni gehraai se chaha jata hai ki vah uske liye apna sb kuchh daanv par lagaa sake to vah jeet ke liye taiyaar ho jata hai. - नेपोलियन हिल

मैं इस बात पर जोर देता हूँ कि मैं महत्त्वाकांक्षा, आशा और जीवन के प्रति आकर्षण से भरा हुआ हूँ. पर मैं ज़रुरत पड़ने पर ये सब त्याग सकता हूँ, और वही सच्चा बलिदान है - main is baat pe zor deta hu ki mahatvakanksha, aasha aur jeevan ke prati aakarshan se bhara hua hoon. par main jaroorat padne par ye sab tyaag sakta hu aur sachche artho mein yahi balidaan hai. : सरदार भगत सिंह

मैं इस बात पर जोर देता हूँ कि मैं महत्त्वाकांक्षा, आशा और जीवन के प्रति आकर्षण से भरा हुआ हूँ. पर मैं ज़रुरत पड़ने पर ये सब त्याग सकता हूँ, और वही सच्चा बलिदान है। : Main is baat pe zor deta hu ki mahatvakanksha, aasha aur jeevan ke prati aakarshan se bhara hua hoon. par main jaroorat padne par ye sab tyaag sakta hu aur sachche artho mein yahi balidaan hai. - सरदार भगत सिंह