बोधविचार - प्रेरक, ज्ञानपूर्ण व बेहतरीन विचारों का संग्रह

जिसे और लोग विफलता का नाम देने या कहने की कोशिश करते हैं, मैंने सीखा है कि वो बस भगवान् का आपको नयी दिशा में भेजने का तरीका है - jise aur log vifalta ka naam dene ya kehne ki koshish karte hain, maine seekha hai ki wo bas bhagvan ka aapko nayi disha me bhejne ka tareeka hai : अज्ञात

जिसे और लोग विफलता का नाम देने या कहने की कोशिश करते हैं, मैंने सीखा है कि वो बस भगवान् का आपको नयी दिशा में भेजने का तरीका है। : Jise aur log vifalta ka naam dene ya kehne ki koshish karte hain, maine seekha hai ki wo bas bhagvan ka aapko nayi disha me bhejne ka tareeka hai - अज्ञात

मस्तिष्क की शक्तियां सूर्य की किरणों के समान हैं। जब वो केन्द्रित होती हैं, चमक उठती हैं - mastishk kee shaktiyaan soory kee kiranon ke samaan hain. jab ve kendrit hote hain, chamak uthatee hain. : स्वामी विवेकानन्द

मस्तिष्क की शक्तियां सूर्य की किरणों के समान हैं। जब वो केन्द्रित होती हैं, चमक उठती हैं। : Mastishk kee shaktiyaan soory kee kiranon ke samaan hain. jab ve kendrit hote hain, chamak uthatee hain. - स्वामी विवेकानन्द

मानव प्रकृति ही ऐसी है की हम बिना उत्सवों के नहीं रह सकते। उत्सव प्रिय होना मानव स्वाभाव है। हमारे त्यौहार होने ही चाहियें - manav ki prakriti hi esi hai ki hum bina utsavo ke rah nahi sakte. utsav pri hona manav swabhav hai. hamare tyauhar hone hi chahiye. : बाल गंगाधर तिलक

मानव प्रकृति ही ऐसी है की हम बिना उत्सवों के नहीं रह सकते। उत्सव प्रिय होना मानव स्वाभाव है। हमारे त्यौहार होने ही चाहियें। : Manav ki prakriti hi esi hai ki hum bina utsavo ke rah nahi sakte. utsav pri hona manav swabhav hai. hamare tyauhar hone hi chahiye. - बाल गंगाधर तिलक

भ्रष्टाचार को पकड़ना बहुत कठिन काम है लेकिन मैं पूरे जोर के साथ कहता हूं कि यदि हम इस समस्या से गंभीरता और दृढ़ संकल्प के साथ नहीं निपटते हैं तो हम अपने कर्तव्यों का निर्वाह करने में असफल होंगे - bhrashtaachaar ko pakadana bahut kathin kaam hai lekin main poore jor ke saath kahata hoon ki agar ham is samasya se drdhata aur drdh sankalp ke saath nahin nipatate hain to ham apane slaavon ka nirvaah karane mein asaphal honge. : लाल बहादुर शास्त्री

भ्रष्टाचार को पकड़ना बहुत कठिन काम है लेकिन मैं पूरे जोर के साथ कहता हूं कि यदि हम इस समस्या से गंभीरता और दृढ़ संकल्प के साथ नहीं निपटते हैं तो हम अपने कर्तव्यों का निर्वाह करने में असफल होंगे। : Bhrashtaachaar ko pakadana bahut kathin kaam hai lekin main poore jor ke saath kahata hoon ki agar ham is samasya se drdhata aur drdh sankalp ke saath nahin nipatate hain to ham apane slaavon ka nirvaah karane mein asaphal honge. - लाल बहादुर शास्त्री