जिस आदर्श के व्यवहार का प्रभाव न हो, वह फिजूल है और जो व्यवहार आदर्श प्रेरित न हो, वह भयंकर है।

इमेज का डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया है

जिस आदर्श के व्यवहार का प्रभाव न हो, वह फिजूल है और जो व्यवहार आदर्श प्रेरित न हो, वह भयंकर है। : Jis aadarsh ka vyavaharik prabhav na ho vah fijool hai aur jo vyavhar aadarsh prerit na ho vah bhayankar hai. - प्रज्ञा सुभाषितजिस आदर्श के व्यवहार का प्रभाव न हो, वह फिजूल है और जो व्यवहार आदर्श प्रेरित न हो, वह भयंकर है। : Jis aadarsh ka vyavaharik prabhav na ho vah fijool hai aur jo vyavhar aadarsh prerit na ho vah bhayankar hai. - प्रज्ञा सुभाषित

jis aadarsh ka vyavaharik prabhav na ho vah fijool hai aur jo vyavhar aadarsh prerit na ho vah bhayankar hai. | जिस आदर्श के व्यवहार का प्रभाव न हो, वह फिजूल है और जो व्यवहार आदर्श प्रेरित न हो, वह भयंकर है।