सज्जनता ऐसी विधा है जो वचन से तो कम; किन्तु व्यवहार से अधिक परखी जाती है।

इमेज का डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया है

सज्जनता ऐसी विधा है जो वचन से तो कम; किन्तु व्यवहार से अधिक परखी जाती है। : Sajjanta aisi vidha hai jo vachan se to kum kintu vyavhar se adhik parkhi jati hai. - प्रज्ञा सुभाषितसज्जनता ऐसी विधा है जो वचन से तो कम; किन्तु व्यवहार से अधिक परखी जाती है। : Sajjanta aisi vidha hai jo vachan se to kum kintu vyavhar se adhik parkhi jati hai. - प्रज्ञा सुभाषित

sajjanta aisi vidha hai jo vachan se to kum kintu vyavhar se adhik parkhi jati hai. | सज्जनता ऐसी विधा है जो वचन से तो कम; किन्तु व्यवहार से अधिक परखी जाती है।