जिनके भीतर-बाहर एक ही बात है, वही निष्कपट व्यक्ति धन्य है।

इमेज का डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया है

जिनके भीतर-बाहर एक ही बात है, वही निष्कपट व्यक्ति धन्य है। : Jin ke bheetar bahar ek hi baat hai, ve nishkapat vyakti dhany hain. - प्रज्ञा सुभाषितजिनके भीतर-बाहर एक ही बात है, वही निष्कपट व्यक्ति धन्य है। : Jin ke bheetar bahar ek hi baat hai, ve nishkapat vyakti dhany hain. - प्रज्ञा सुभाषित

Jin ke bheetar bahar ek hi baat hai, ve nishkapat vyakti dhany hain. | जिनके भीतर-बाहर एक ही बात है, वही निष्कपट व्यक्ति धन्य है।