अज्ञानी वे हैं, जो कुमार्ग पर चलकर सुख की आशा करते हैं।

इमेज का डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया है

अज्ञानी वे हैं, जो कुमार्ग पर चलकर सुख की आशा करते हैं। : Agyani ve hain jo kumarg par chalakar sukh ki aasha karte hain. - प्रज्ञा सुभाषितअज्ञानी वे हैं, जो कुमार्ग पर चलकर सुख की आशा करते हैं। : Agyani ve hain jo kumarg par chalakar sukh ki aasha karte hain. - प्रज्ञा सुभाषित

agyani ve hain jo kumarg par chalakar sukh ki aasha karte hain. | अज्ञानी वे हैं, जो कुमार्ग पर चलकर सुख की आशा करते हैं।