वे माता-पिता धन्य हैं, जो अपनी संतान के लिए उत्तम पुस्तकों का एक संग्रह छोड़ जाते हैं।

इमेज का डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया है

वे माता-पिता धन्य हैं, जो अपनी संतान के लिए उत्तम पुस्तकों का एक संग्रह छोड़ जाते हैं। : Ve mata pita dhanya hain jo apni santaan ke liye uttam pustako ka ek sangrah chhod jaate hain. - प्रज्ञा सुभाषितवे माता-पिता धन्य हैं, जो अपनी संतान के लिए उत्तम पुस्तकों का एक संग्रह छोड़ जाते हैं। : Ve mata pita dhanya hain jo apni santaan ke liye uttam pustako ka ek sangrah chhod jaate hain. - प्रज्ञा सुभाषित

ve mata pita dhanya hain jo apni santaan ke liye uttam pustako ka ek sangrah chhod jaate hain. | वे माता-पिता धन्य हैं, जो अपनी संतान के लिए उत्तम पुस्तकों का एक संग्रह छोड़ जाते हैं।