जो धर्म जन्म से एक को श्रेष्ठ और दूसरे को नीच बताये वह धर्म नहीं, गुलाम बनाए रखने का षड़यंत्र है।

इमेज का डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया है

जो धर्म जन्म से एक को श्रेष्ठ और दूसरे को नीच बताये वह धर्म नहीं, गुलाम बनाए रखने का षड़यंत्र है। : Jo dharm jayamm se ek ko shrey aur doosare ko neech bata vah dharm nahin, gulaam banae rakhane ka shadayantr hai. - डॉ॰ बी॰ आर॰ अम्बेडकरजो धर्म जन्म से एक को श्रेष्ठ और दूसरे को नीच बताये वह धर्म नहीं, गुलाम बनाए रखने का षड़यंत्र है। : Jo dharm jayamm se ek ko shrey aur doosare ko neech bata vah dharm nahin, gulaam banae rakhane ka shadayantr hai. - डॉ॰ बी॰ आर॰ अम्बेडकर

jo dharm jayamm se ek ko shrey aur doosare ko neech bata vah dharm nahin, gulaam banae rakhane ka shadayantr hai. | जो धर्म जन्म से एक को श्रेष्ठ और दूसरे को नीच बताये वह धर्म नहीं, गुलाम बनाए रखने का षड़यंत्र है।