सद्व्यवहार में शक्ति है। जो सोचता है कि मैं दूसरों के काम आ सकने के लिए कुछ करूँ, वही आत्मोन्नति का सच्चा पथिक है।

इमेज का डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया है

सद्व्यवहार में शक्ति है। जो सोचता है कि मैं दूसरों के काम आ सकने के लिए कुछ करूँ, वही आत्मोन्नति का सच्चा पथिक है। : Sadvyavahar mein shakt. jo sochta hai ki main doosro ke kaam aan sakne ke liye kuchh karoo, vahi aatmonnati ka sachcha pathik hai. - प्रज्ञा सुभाषितसद्व्यवहार में शक्ति है। जो सोचता है कि मैं दूसरों के काम आ सकने के लिए कुछ करूँ, वही आत्मोन्नति का सच्चा पथिक है। : Sadvyavahar mein shakt. jo sochta hai ki main doosro ke kaam aan sakne ke liye kuchh karoo, vahi aatmonnati ka sachcha pathik hai. - प्रज्ञा सुभाषित

sadvyavahar mein shakt. jo sochta hai ki main doosro ke kaam aan sakne ke liye kuchh karoo, vahi aatmonnati ka sachcha pathik hai. | सद्व्यवहार में शक्ति है। जो सोचता है कि मैं दूसरों के काम आ सकने के लिए कुछ करूँ, वही आत्मोन्नति का सच्चा पथिक है।