प्रेमी, पागल और कवि एक ही चीज से बने होते हैं।

इमेज का डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया है

प्रेमी, पागल और कवि एक ही चीज से बने होते हैं। : Premi, pagal aur kavueek hi mitti ke bane hote hain. - सरदार भगत सिंहप्रेमी, पागल और कवि एक ही चीज से बने होते हैं। : Premi, pagal aur kavueek hi mitti ke bane hote hain. - सरदार भगत सिंह

premi, pagal aur kavueek hi mitti ke bane hote hain. | प्रेमी, पागल और कवि एक ही चीज से बने होते हैं।