मनुष्य अपने विश्वास से निर्मित होता है।जैसा वो विश्वास करता है वैसा वो बन जाता है।

इमेज का डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया है

मनुष्य अपने विश्वास से निर्मित होता है।जैसा वो विश्वास करता है वैसा वो बन जाता है। : Manushya apne vishvas se nirmit hota hai. jaisa vo vioshwas karta hai waisa hi ban jata hai. - अज्ञातमनुष्य अपने विश्वास से निर्मित होता है।जैसा वो विश्वास करता है वैसा वो बन जाता है। : Manushya apne vishvas se nirmit hota hai. jaisa vo vioshwas karta hai waisa hi ban jata hai. - अज्ञात

manushya apne vishvas se nirmit hota hai. jaisa vo vioshwas karta hai waisa hi ban jata hai. | मनुष्य अपने विश्वास से निर्मित होता है।जैसा वो विश्वास करता है वैसा वो बन जाता है।