जिस ‘मनुष्य’ मे ‘संतुष्टि’ के ‘अंकुर’ फुट गये हों, वो ‘संसार’ के ‘सुखी’ मनुष्यों मे गिना जाता है।

इमेज का डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया है

जिस ‘मनुष्य’ मे ‘संतुष्टि’ के ‘अंकुर’ फुट गये हों, वो ‘संसार’ के ‘सुखी’ मनुष्यों मे गिना जाता है। : Jis manushya me santushti ke ankur foot gaye ho, wo sansar ke sukhi manushyo me gina jata hai - महर्षि दयानंद सरस्वतीजिस ‘मनुष्य’ मे ‘संतुष्टि’ के ‘अंकुर’ फुट गये हों, वो ‘संसार’ के ‘सुखी’ मनुष्यों मे गिना जाता है। : Jis manushya me santushti ke ankur foot gaye ho, wo sansar ke sukhi manushyo me gina jata hai - महर्षि दयानंद सरस्वती

jis manushya me santushti ke ankur foot gaye ho, wo sansar ke sukhi manushyo me gina jata hai | जिस ‘मनुष्य’ मे ‘संतुष्टि’ के ‘अंकुर’ फुट गये हों, वो ‘संसार’ के ‘सुखी’ मनुष्यों मे गिना जाता है।