Notice: Undefined index: regenerate_quotes in /home/runcloud/webapps/BodhVichar/wp-content/plugins/gp-premium/elements/class-hooks.php(215) : eval()'d code on line 8

एक मकान तब तक घर नहीं बन सकता जब तक उसमे दिमाग और शरीर दोनों के लिए भोजन और भभक ना हो।

इमेज का डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया है

एक मकान तब तक घर नहीं बन सकता जब तक उसमे दिमाग और शरीर दोनों के लिए भोजन और भभक ना हो। : Ek makaan tab tak ghar nahi ban sakta jab tak usme dimaag aur shareer dono ke liye bhojan aur bhabhak na ho. - बेंजामिन फ्रैंकलिनएक मकान तब तक घर नहीं बन सकता जब तक उसमे दिमाग और शरीर दोनों के लिए भोजन और भभक ना हो। : Ek makaan tab tak ghar nahi ban sakta jab tak usme dimaag aur shareer dono ke liye bhojan aur bhabhak na ho. - बेंजामिन फ्रैंकलिन

ek makaan tab tak ghar nahi ban sakta jab tak usme dimaag aur shareer dono ke liye bhojan aur bhabhak na ho. | एक मकान तब तक घर नहीं बन सकता जब तक उसमे दिमाग और शरीर दोनों के लिए भोजन और भभक ना हो।