दुर्लभ मानुष जनम है, देह न बारम्बार | तरुवर ज्यों पत्ती झड़े, बहुरि न लागे डार ||

इमेज का डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया है

दुर्लभ मानुष जनम है, देह न बारम्बार | तरुवर ज्यों पत्ती झड़े, बहुरि न लागे डार || : Durlabh maanush janam hai, deh na baarambaar | taruvar jyon pattee jhade, bahuri na laage daar || - कबीरदुर्लभ मानुष जनम है, देह न बारम्बार | तरुवर ज्यों पत्ती झड़े, बहुरि न लागे डार || : Durlabh maanush janam hai, deh na baarambaar | taruvar jyon pattee jhade, bahuri na laage daar || - कबीर

durlabh maanush janam hai, deh na baarambaar | taruvar jyon pattee jhade, bahuri na laage daar || | दुर्लभ मानुष जनम है, देह न बारम्बार | तरुवर ज्यों पत्ती झड़े, बहुरि न लागे डार ||