दुनिया में आलस्य को पोषण देने जैसा दूसरा भयंकर पाप नहीं है।

इमेज का डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया है

दुनिया में आलस्य को पोषण देने जैसा दूसरा भयंकर पाप नहीं है। : Duniya me aalasya ko poshan dene jaisa bhayankar paap nahi hai. - प्रज्ञा सुभाषितदुनिया में आलस्य को पोषण देने जैसा दूसरा भयंकर पाप नहीं है। : Duniya me aalasya ko poshan dene jaisa bhayankar paap nahi hai. - प्रज्ञा सुभाषित

duniya me aalasya ko poshan dene jaisa bhayankar paap nahi hai. | दुनिया में आलस्य को पोषण देने जैसा दूसरा भयंकर पाप नहीं है।