कर्त्तव्य पालन करते हुए मौत मिलना मनुष्य जीवन की सबसे बड़ी सफलता और सार्थकता है।

इमेज का डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया है

कर्त्तव्य पालन करते हुए मौत मिलना मनुष्य जीवन की सबसे बड़ी सफलता और सार्थकता है। : Kartavya palan karte hue maut milna manushya jeevan ki sabse badi safalta aur sarthakta hai - प्रज्ञा सुभाषितकर्त्तव्य पालन करते हुए मौत मिलना मनुष्य जीवन की सबसे बड़ी सफलता और सार्थकता है। : Kartavya palan karte hue maut milna manushya jeevan ki sabse badi safalta aur sarthakta hai - प्रज्ञा सुभाषित

kartavya palan karte hue maut milna manushya jeevan ki sabse badi safalta aur sarthakta hai | कर्त्तव्य पालन करते हुए मौत मिलना मनुष्य जीवन की सबसे बड़ी सफलता और सार्थकता है।