व्यक्ति अकेले पैदा होता है और अकेले मर जाता है और वो अपने अच्छे और बुरे कर्मों का फल खुद ही भुगतता है | वह अकेले ही नर्क या स्वर्ग जाता है।

इमेज का डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया है

व्यक्ति अकेले पैदा होता है और अकेले मर जाता है और वो अपने अच्छे और बुरे कर्मों का फल खुद ही भुगतता है | वह अकेले ही नर्क या स्वर्ग जाता है। : Vyakti akele hi paida hota hai aur akele hi mar jata hai. wo apne achche bure karmo ka fal khud bhugtata hai aur akela hi swarg athva narak jata hai. - चाणक्यव्यक्ति अकेले पैदा होता है और अकेले मर जाता है और वो अपने अच्छे और बुरे कर्मों का फल खुद ही भुगतता है | वह अकेले ही नर्क या स्वर्ग जाता है। : Vyakti akele hi paida hota hai aur akele hi mar jata hai. wo apne achche bure karmo ka fal khud bhugtata hai aur akela hi swarg athva narak jata hai. - चाणक्य

vyakti akele hi paida hota hai aur akele hi mar jata hai. wo apne achche bure karmo ka fal khud bhugtata hai aur akela hi swarg athva narak jata hai. | व्यक्ति अकेले पैदा होता है और अकेले मर जाता है और वो अपने अच्छे और बुरे कर्मों का फल खुद ही भुगतता है | वह अकेले ही नर्क या स्वर्ग जाता है।