अपमानित होके जीने से अच्छा मरना है। मृत्यु तो बस एक क्षण का दुःख देती है, लेकिन अपमान हर दिन जीवन में दुःख लाता है।

रचनाकार :
इमेज का डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया है

अपमानित होके जीने से अच्छा मरना है। मृत्यु तो बस एक क्षण का दुःख देती है, लेकिन अपमान हर दिन जीवन में दुःख लाता है। : Apmanit hoke jeene se achcha marna hai. mrityu to bas ek kshan ka dukh deti hai, lekin apmaan har din jeevan me dukh deta hai. - चाणक्यअपमानित होके जीने से अच्छा मरना है। मृत्यु तो बस एक क्षण का दुःख देती है, लेकिन अपमान हर दिन जीवन में दुःख लाता है। : Apmanit hoke jeene se achcha marna hai. mrityu to bas ek kshan ka dukh deti hai, lekin apmaan har din jeevan me dukh deta hai. - चाणक्य

Leave A Reply

Your email address will not be published.