क्रोध कभी भी बिना कारण नहीं होता, लेकिन कदाचित ही यह कारण सार्थक होता है।

इमेज का डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया है

क्रोध कभी भी बिना कारण नहीं होता, लेकिन कदाचित ही यह कारण सार्थक होता है। : Krodh kabhi bhi bina kaaran nahi hota, lekin kadaachit hi yah kaaran sarthak hota hai. - बेंजामिन फ्रैंकलिनक्रोध कभी भी बिना कारण नहीं होता, लेकिन कदाचित ही यह कारण सार्थक होता है। : Krodh kabhi bhi bina kaaran nahi hota, lekin kadaachit hi yah kaaran sarthak hota hai. - बेंजामिन फ्रैंकलिन

Leave A Reply

Your email address will not be published.