भगवान एक है, लेकिन उसके कई रूप हैं. वो सभी का निर्माणकर्ता है और वो खुद मनुष्य का रूप लेता है।

इमेज का डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया है

भगवान एक है, लेकिन उसके कई रूप हैं. वो सभी का निर्माणकर्ता है और वो खुद मनुष्य का रूप लेता है। : Bhagvan ek hai lekin uske kai roop hain. wo sabhi ka nirmankarta hai aur vo khud manushya ka roop leta hai. - गुरु नानक देवभगवान एक है, लेकिन उसके कई रूप हैं. वो सभी का निर्माणकर्ता है और वो खुद मनुष्य का रूप लेता है। : Bhagvan ek hai lekin uske kai roop hain. wo sabhi ka nirmankarta hai aur vo khud manushya ka roop leta hai. - गुरु नानक देव

bhagvan ek hai lekin uske kai roop hain. wo sabhi ka nirmankarta hai aur vo khud manushya ka roop leta hai. | भगवान एक है, लेकिन उसके कई रूप हैं. वो सभी का निर्माणकर्ता है और वो खुद मनुष्य का रूप लेता है।