पहले पाच सालों में अपने बच्चे को बड़े प्यार से रखिये। अगले पांच साल उन्हें डांट-डपट के रखिये। जब वह सोलह साल का हो जाये तो उसके साथ एक मित्र की तरह व्यवहार करिए। आपके वयस्क बच्चे ही आपके सबसे अच्छे मित्र हैं।

इमेज का डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया है

पहले पाच सालों में अपने बच्चे को बड़े प्यार से रखिये। अगले पांच साल उन्हें डांट-डपट के रखिये। जब वह सोलह साल का हो जाये तो उसके साथ एक मित्र की तरह व्यवहार करिए। आपके वयस्क बच्चे ही आपके सबसे अच्छे मित्र हैं। : Pahle-panch saalo me apne bachche ko bade pyar se rakhiye. agle panch saal daant dapat kar aur jab wo solah saal ka ho jaye to use mitra bna lo . aapke vayask bachche hi aapke sabse achche mitra hain. - चाणक्यपहले पाच सालों में अपने बच्चे को बड़े प्यार से रखिये। अगले पांच साल उन्हें डांट-डपट के रखिये। जब वह सोलह साल का हो जाये तो उसके साथ एक मित्र की तरह व्यवहार करिए। आपके वयस्क बच्चे ही आपके सबसे अच्छे मित्र हैं। : Pahle-panch saalo me apne bachche ko bade pyar se rakhiye. agle panch saal daant dapat kar aur jab wo solah saal ka ho jaye to use mitra bna lo . aapke vayask bachche hi aapke sabse achche mitra hain. - चाणक्य

pahle-panch saalo me apne bachche ko bade pyar se rakhiye. agle panch saal daant dapat kar aur jab wo solah saal ka ho jaye to use mitra bna lo . aapke vayask bachche hi aapke sabse achche mitra hain. | पहले पाच सालों में अपने बच्चे को बड़े प्यार से रखिये। अगले पांच साल उन्हें डांट-डपट के रखिये। जब वह सोलह साल का हो जाये तो उसके साथ एक मित्र की तरह व्यवहार करिए। आपके वयस्क बच्चे ही आपके सबसे अच्छे मित्र हैं।