कमाए बगैर धन का उपभोग करने की तरह ही खुशी दिए बगैर खुश रहने का अधिकार हमें नहीं है।

इमेज का डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया है

कमाए बगैर धन का उपभोग करने की तरह ही खुशी दिए बगैर खुश रहने का अधिकार हमें नहीं है। : Kamaaye bagair dhan ka upbhog karne ki tarah hi khushi diye bagair khush rahne ka adhikar humein nahi hai. - जॉर्ज बर्नार्ड शॉकमाए बगैर धन का उपभोग करने की तरह ही खुशी दिए बगैर खुश रहने का अधिकार हमें नहीं है। : Kamaaye bagair dhan ka upbhog karne ki tarah hi khushi diye bagair khush rahne ka adhikar humein nahi hai. - जॉर्ज बर्नार्ड शॉ

Leave A Reply

Your email address will not be published.