औरत ही एक मात्र प्राणी है जिससे मैं ये जानते हुए भी कि वो मुझे चोट नहीं पहुंचाएगी, डरता हूँ।

रचनाकार :
इमेज का डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया है

औरत ही एक मात्र प्राणी है जिससे मैं ये जानते हुए भी कि वो मुझे चोट नहीं पहुंचाएगी, डरता हूँ। : Aurat hi ek matra prani jisse main ye jaante hue bhi ki mujhe chot nahi pahunchayegi, darta hu - अब्राहम लिंकनऔरत ही एक मात्र प्राणी है जिससे मैं ये जानते हुए भी कि वो मुझे चोट नहीं पहुंचाएगी, डरता हूँ। : Aurat hi ek matra prani jisse main ye jaante hue bhi ki mujhe chot nahi pahunchayegi, darta hu - अब्राहम लिंकन

Leave A Reply

Your email address will not be published.